कृषि कानून को लेकर विपक्ष द्वारा बुलाये गये भारत बन्द पर भाजपा मीडिया प्रमुख अम्बिकेश पाण्डेय के हवाले बोले जनप्रतिनिधि

अग्रसेन विश्वकर्मा देवरिया देवरिया राजनीति

कृषि कानून को लेकर विपक्ष द्वारा बुलाये गये भारत बन्द पर भाजपा मीडिया प्रमुख अम्बिकेश पाण्डेय के हवाले बोले जनप्रतिनिध
कृषि मंत्री सूर्यप्रताप शाही ने कहा की यह बन्द पूरी तरह से फेल है । धरने पर बैठे लोग कोई भी किसान नही है । उत्तर प्रदेश के 93% व पूरे भारत के 90% किसान अपने खेत मे काम कर रहे है । वह बिचौलिए और राशन की कालाबाजारी करने वाले लोग है जो सूट बूट पहन कर महंगी आडी जैसी गाड़ियों से आ कर धरने में बैठे है । जमीनी किसान अपने खेतो में काम कर रहे है, वह अनाज उगा कर अपनी जीविका चलाते है । किसानों को कृषि कानून पर किसी प्रकार का भी विरोध नही है, यह सब विपक्ष की साजिश है ।देश के बुद्धिजीवी और कृषि से जुड़े अर्थशास्त्रियों का भी मानना है कि ये सुधार किसानों और देश की तकदीर बदलेंगे। लेकिन युगों से किसानों को राजनीतिक दांव पेंच की भेंड़ की तरह इस्तेमाल करने वाले ये लोग अब भी किसानों को गुमराह करने का प्रयास कर रहे है।

सदर विधायक डा. सत्यप्रकाश मणि त्रिपाठी ने कहा कि भारत बंद विफल होना विपक्षियों की करारी हार का सबूत हैं,अब उनको समझ जाना चाहिये कि किसान इस बिल के विरोध में नही है।किसान मोदी और योगी सरकार की किसान हित के फैसलों के साथ आज खड़ा है।

विधायक काली प्रसाद ने कहा कि मंडियां बंद नही होंगी। इन नये कानूनों से किसी किसान की ज़मीन नही जाएगी। वास्तविकता में इन कानूनों से किसानों का हर प्रकार से लाभ ही होने वाला है लेकिन विपक्ष को किसानों का भला नही देखा जा रहा।

विधायक बरहज सुरेश तिवारी ने कहा कि मैं फिर से कहना चाहता हूँ, किसानों को मिलने वाला न्यूनतम समर्थन मूल्य (MSP) था, है और रहेगा। जैसे पिछले 55 सालों से किसानों को MSP का लाभ मिलता आ रहा है, वैसा ही आगे भी जारी रहेगा। देश के किसानों की समृद्धि ही हमारी सरकार का ध्येय है।मोदी और योगी सरकार किसानों के साथ है।

भाजपा जिलाध्यक्ष अन्तर्यामी सिंह ने कहा कि किसानों के नाम पर बुलाए गए भारत बंद को राजनीतिक दलों का समर्थन एक पाखण्ड है। उन्होंने ही APMC समाप्त करने का क़ानून लाया, इन्ही पार्टियों द्वारा शासित कई राज्यों में कॉन्ट्रैक्ट फार्मिंग को लागू भी किया गया है जो इनके पाखण्ड का पर्दाफाश करता है।
—————————————-
वही भाजपा कार्यकर्ताओं ने जिलापंचायत परिसर स्थित हनुमान मंदिर पर 21 बार हनुमान चालीसा का पाठ कर विपक्ष के नेताओ की सद्बुद्धि के लिये प्रार्थना किया।
इसके बाद पूर्व जिलामंत्री सीपी सिंह ने कहा कि विपक्षी दल कृषि कानूनों पर भ्रम फैलाकर घृणित राजनीति कर रही है।असल में इन बिलों से किसानों को बंदिशों में जकड़ने वाली व्यवस्थाओं से मुक्ति मिलेगी।अब किसान पूरे देश में, मंडियों से बाहर भी, ज्यादा लाभ पर उपज बेच सकते हैं।
पूर्व महामंत्री युवा मोर्चा रामदास मिश्रा ने कहा कि नए कृषि सुधार कानूनों से आएगी किसानों के जीवन में समृद्धि आयेगी।विघटनकारी और अराजकतावादी ताकतों द्वारा फैलाए जा रहे भ्रामक प्रचार से किसान भाई बचें।भाजपा सरकार ने स्पष्ट बताया है कि MSP और मंडियां भी जारी रहेगी और किसान अपनी फसल अपनी मर्जी से कहीं भी बेच सकेंगे।
मीडिया प्रमुख अम्बिकेश पाण्डेय ने कहा कि विपक्षी दल किसानों के समर्थन में नहीं भाजपा और मोदी जी के विरोध में हैं। किसान अन्नदाता है ,उनकी आमदनी बढ़ाना उनका जीवन स्तर ऊँचा उठाना और बातचीत से समाधान निकालना ही प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी और सरकार का लक्ष्य है। विपक्ष की कोशिश के बाद भी भारत बंद फ्लाप हो गया है।
इस दौरान रामाज्ञा चौहान,अंकुर राय,राकेश सिंह,नवीन सिंह,धनुषधारी मणि, दिनेश गुप्ता,कमलेश मिश्रा, राजेन्द्र विक्रम सिंह,गोविंद मणि रहे।

फ़ोटो-विपक्ष की सद्बुद्धि के लिये प्रार्थना करते भाजपा कार्यकर्ता

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *