लार के कुंडवाल तारा में हाइटेक मामले का पटाक्षेप, पुलिस ने भेजा बत्तीस को जेल

अग्रसेन विश्वकर्मा देवरिया देवरिया

देवरिया जिले के लार थाने के कुंडवाल तारा गॉव का है मामला।
# दूसरे गॉव से आये थे लगभग दो दर्जन बदमाश।
# हवाई फायरिंग कर दहशत फैलाना चाहते थे बदमाश।
# गॉव के लोगों ने बन्द कर दी थी बदमाशों वाली मकान का मुख्य दरवाजा।
# पुलिस ने आकर सभी को किया गिरफ्तार।
देवरिया(लार/भगलपुर) एक कहावत है। गये नमाज ओटाने, गले में पड़ा रोजा यह कहावत चरितार्थ हो रही है, लार थाना क्षेत्र के कुंडवाल तारा गॉव की घटना जिसमे जमीनी विवाद को लेकर एक पक्ष बाहरी लोगों को बुलाकर जमीन कब्ज़ा कराना चाहता था।लेकिन जमीन कब्ज़ा से पहले ही गॉव के सहयोग और पुलिस की मुस्तैदी से सभी बदमाश गिरफ्तार किए गए।और गंभीर धाराओं में जेल भेज दिए गए हैं।
हुआ यूँ कि लार थाना क्षेत्र में तारा कुंडवाल गॉव में जमीन के लिए पुराना विवाद था,जिसमे एक पक्ष लालबाबुनाथ तिवारी और दूसरा पक्ष इनका पट्टीदार।दोनों में जमीन को लेकर अदावत रही है।दो दिन पहले यानि 6 नवम्बर को सुरेश तिवारी ने बाहरी लोगों को बुलाकर विवादित जमीन को जबरन कब्ज़ा करना चाहा था,।दोनों तरफ से इट पत्थर चलने लगा।इसी में किसी बदमाश ने फायर कर दिया ,जिससे गॉव के लोग दहशत में आ गए।लेकिन कुछ लोग हिम्मत करके बदमाशों वाली माकन का मुख्य दरवाजा बंद कर दिया।और पुलिस को सुचना किया।पुलिस मौके की हालात की गंभीरता को देखते हुए, पी ए सी बल के साथ कुंडावाल तारा गॉव में पहुँच कर मकान में बन्द किये गए सभी बाहरी लोगों को गिरफ्तार कर थाने ले आई जिसमे बिभिन्न गॉवो के लगभग तीस लोग सहित दो लोग जमीन वाले हैं।पुलिस ने मौके से 10 दो पहिया वाहन कब्जे में लिया है।और गिरफ्तार किए गए लोगो कोअपराध संख्या 281/2020,धारा 147,148,323,504,427,336 IPC व 7 CLA एक्ट के तहत लालबाबू नाथ तिवारी पुत्र चंद्रशेखर नाथ तिवारी की तहरीर पर लार पुलिस ने गिरफ्तार किये गए सभी बदमाशों को कड़ी सुरक्षा के बीच न्यायालय भेज दिया है जहाँ से इन सभी को 14दिन की न्यायिक हिरासत में जिला जेल भेज दिया गया है ।इस बावत थाना प्रभारी निरीक्षक टी जे सिंह से पूछे जाने पर इन्होंने बताया कि वास्तव में यह अप्रत्याशित घटना है और पूर्व नियोजित थी, लेकिन पुलिस की मुश्तैदी से इसका पटाक्षेप कर दिया गया है।किसी को भी कानून व्यवस्था से खिलवाड़ करने की छूट नही है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *